कोरोना महामारी के कारण सभी तरह के काम रोक दिए गए हैं। जिसका शैक्षणिक कार्य पर बहुत ज्यादा असर पड़ा है। हाल ही में 12वीं र 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है। इसी तरह से यूपी बोर्ड ने भी 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया है। बोर्ड परीक्षार्थियों को बिना परीक्षा के ही पास किया जाएगा। ऐसे में इस बार पिछले वर्ष इन दोनों कक्षाओं की बोर्ड परीक्षा में फेल हुए करीब 10 लाख से अधिक स्टूडेंट्स भी बिना परीक्षा के ही पास होंगे।


यूपी रिपोर्ट्स के अनुसार पिछले वर्ष इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा के लिए करीब 25,86,339 स्टूडेंट्स ने पंजीकरण कराया था, जिनमें से करीब 24,84,479 परीक्षा में शामिल हुए थे। 12वीं बोर्ड परीक्षा में 18,54,099 स्टूडेंट्स ही पास हुए थे और 6 लाख से अधिक फेल हो गए थे। कोरोना के कारण रद्द किए परीक्षा के फैसले के मुताबिक पिछले वर्ष 12वीं बोर्ड  परीक्षा में फेल स्टूडेंट्स भी इस बार बिना परीक्षा के ही पास होंगे।


जानकारी के लिए बता दें कि पिछली वर्ष 10वीं बोर्ड परीक्षा में 27 लाख 72 हजार 256 छात्र शामिल हुए थे। इसमें से चार लाख 62 हजार 854 छात्र फेल हो गए थे. जबकि दो लाख 51 हजार 824 छात्रों ने किसी वजह से परीक्षा ही छोड़ दी थी। इसमें से दोबारा परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करने वाले सभी छात्र इस बार पास बिना परीक्षा के ही पास कर दिए जाएंगे।