उत्तर प्रदेश में फिर योगी राज आने की संभावना है, भाजपा ने बहुमत हासिल किया है। इस चौंकाने वाली बात यह है कि यूपी की नई विधानसभा में हाई क्वालिफाई नेताओं का जमावड़ा लग गया है। इस बार डॉक्टर, इंजीनियर, पीएचडी धारक और विदेशी डिग्रियों से लैस विधायक दिखाई देंगे। हाई क्वालीफाई ये सभी विधायक पेशे से भले ही कुछ और हैं, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि यह सब जनता से जुड़े कार्यों को बखूबी बहुत अच्छा करेंगे।
इनमें से किसी विधायक ने MBBS किया है तो कोई विदेश से डिग्री लेकर आया है। किसी ने पीएचडी की है तो कोई इंजीनियर रहा है। लगभग सभी नवर्निवाचित विधायक पढ़ाई में तो अपना लोहा मनवा ही चुके हैं। अब देखना ये है कि सत्ता में और जनता के दिलों पर ये कितनी छाप छोड़ पाते हैं।
यह भी पढ़ें- UP चुनाव परिणाम के बाद में मचा BJP कार्यकर्ता की मौत पर बवाल, 4 पुलिसकर्मी हुए सस्पेंड़

आगरा कैंट से बीजेपी विधायक जीएस धर्मेश ने आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया है। तो बरेली से विधानसभा पहुंचे दो डॉक्टरों में से एक डॉ. अरुण कुमार ने लखनऊ से एमबीबीएस किया है और तीसरी बार विधानसभा पहुंचे हैं। नवाबगंज से डॉ. एमपी आर्य भी विधायक बने हैं। बीकापुर से विधायक अमित सिंह ने लखनऊ के एरा मेडिकल कॉलेज से मेडिकल की पढ़ाई की है। वहीं मोदी नगर से डॉ मंजू सिवाच स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं।
नेत्र रोग और पशु रोग विशेषज्ञ

बांसगांव से विधायक डॉ. विमलेश पासवान ने एमडीएस किया है और दांतों के डॉक्टर हैं। तमकुहीराज से बीजेपी विधायक डॉ. असीम कुमार और सगड़ी से सपा विधायक हृदय नारायण सिंह पटेल भी सर्जन हैं। मछली शहर से सपा विधायक डॉ. रागिनी नेत्र रोग विशेषज्ञ, बिथरी से राघवेन्द्र शर्मा हड्डी रोग विशेषज्ञ, मड़ियाहूं सीट से अपना दल के डॉ आर के पटेल सर्जन हैं तो मीरगंज से डीसी वर्मा पशु रोग विशेषज्ञ हैं।

यह भी पढ़ें- पुतिन अपनी ही सेना से हुए परेशान, कहा- 'खरी नहीं उतरी रूसी सेना'

विदेशी डिग्रियों से लैस विधायक


विदेशी डिग्रियों से लैस विधायकों की बात की जाए तो कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन ऑस्ट्रेलिया के होलमॉस इंस्टीट्यूट से बीबीए करके राजनीति में आए हैं। तो मेरठ कैंट से बीजेपी विधायक अमित अग्रवाल ने अमेरिका की जार्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी से एमबीए की डिग्री ली है। वहीं रायबरेली से प्रत्याशी अदिति सिंह ने यूएस की ड्यूक यूनिवर्सिटी से परास्नातक किया है। अतरौली से विधायक संदीप सिंह ने भी यूके की लीड्स बेकेट यूनिवर्सिटी से पब्लिक रिलेशन एंड स्ट्रैटेजिक कम्युनिकेशन में परास्नातक किया है।

इलाहाबाद उत्तरी से बीजेपी विधायक हर्षवर्धन बाजपेई ने शेफील्ड यूनिवर्सिटी से बीटेक कर रखा है। इंजीनियरिंग की डिग्री लेने वाले भी विधायक बने हैं। स्वार में अब्दुल्ला आजम ने गलगोटिया से एमटेक किया है। चौरीचौरा से विधायक श्रवण निषाद ने भी बीटेक कर रखा है तो अनूपशहर के संजय शर्मा ने इंजीनियरिंग में परास्नातक किया है।
यह भी पढ़ें- ऑल सुमी स्टूडेंट्स यूनियन रखेगा सरकार द्वारा संचालित स्कूलों पर पेनी नजर

PHD होल्डर्स

विधानसभा में सबसे ज्यादा पीएचडी धारक पहुंचे हैं। बीजेपी से घोरावल विधायक डॉ अनिल कुमार मौर्य, वाराणसी से नीलकंठ तिवारी, देवरिया से शलभ मणि, सरोजनीनगर से राजेश्वर सिंह, एत्मादपुर से धर्मपाल, छपरौली से अजय कुमार, हमीरपुर से मनोज प्रजापति समेत सपा विधायक मड़यिहूं से सपा सुषमा पटेल, जंगीपुर से वीरेन्द्र कुमार, गैंसड़ी से शिव प्रताप यादव समेत दो दर्जन PHD धारक विधानसभा पहुंचे हैं।