कोरोना वायरस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक महाराष्ट्र में अनलॉक की प्रक्रिया का ऐलान किया गया है. राज्य सरकार की घोषणा के मुताबिक महाराष्ट्र अनलॉक की प्रक्रिया 5 चरणों में की जायेगी.

इसके अलावा महाराष्ट्र के मंत्री विजय वेडत्तिवर ने कहा कि राज्य में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के सालाना एग्जाम निरस्त कर दिए गए हैं. वेडत्तिवर ने कहा के हमने राज्य के लिए 5 स्तरीय अनलॉक की प्रक्रिया का प्लान बनाया है. पूरा प्लान राज्य में संक्रमण की दर और राज्य के जिलों में ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता पर आधारित है. जिन जिलों में संक्रमण की दर बहुत कम होगी, वहां कोई प्रतिबंध नहीं होगा.

राज्य सरकार ने निर्देशों के मुताबिक राज्य के कुल जिलों को 5 लेवल में बांटा गया. लेवल-5 का मतलब है कि इस लेवल के जिलों में संक्रमण दर काफी कम है. राज्य में कुल 36 में से 18 जिले ऐसे हैं, जहां किसी भी तरह की पाबंदी नहीं होगी. शुक्रवार से इन जिलों में सभी चीजें खोल दी जाएंगी. राज्य के अन्य जिले, लेवल 1, लेवल 2, लेवल 3, लेवल 4 में हैं, जहां संक्रमण दर कम होने पर पाबंदियों में छूट मिलेगी.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बुधवार की शाम को कोविड-19 के 15,169 नए मामले आए जिन्हें मिलाकर राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 57,76,184 हो गई. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इस अवधि में 285 लोगों की मौत हुई, जबकि 268 पूर्व में हुई मौतें भी कोविड-19 से होने की पुष्टि हुई.

इसके साथ महाराष्ट्र में अब तक 96,751 लोगों की जान इस महामारी में जा चुकी है. महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि बुधवार को आए मामले मंगलवार को सामने आए 14,123 मामलों से अधिक है. विभाग ने बताया कि प्रदेश में नए संक्रमितों के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक रही.