तमिलनाडु के थिरुकोलुर में आयोजित हुई शादी ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जिनको लेकर हर कोई हैरान हैं। दरअसल, एक शादी में आए मेहमान हैरान रह गए जब दुल्हन ने मार्शल आर्ट्स में अपने एक से बढ़ कर एक गुर दिखाए। कई खतरनाक हथियार थाम कर भी दुल्हन ने अपना यह हुनर दिखाया। ये सब करने का मकसद यही था कि अपनी सुरक्षा के लिए मार्शल आर्ट्स सीखना कितना कारगर रहता है।

दुल्हन पी निशा को बचपन से ही उनकी मां मणि ने मार्शल आर्ट्स सीखने के लिए प्रेरित किया। इसके लिए तमिलनाडु में प्रचलित सिलाम्बरम युद्धकला को चुना गया।

निशा की मां मणि का कहना है कि हर लड़की को स्वास्थ्य के नजरिए से फिट रहने के साथ साथ अपनी सुरक्षा के लिए भी मार्शल आर्ट सीखनी चाहिए।

निशा के इस हुनर का दूल्हे राजकुमार को पता चला तो उसने फैसला किया कि शादी के दिन सब मेहमानों के सामने निशा मार्शल आर्ट्स में अपनी प्रतिभा दिखाए। साथ ही सिलाम्बरम को लेकर लोगों में जागरुकता बढ़े।

इस मौके पर निशा की क्लासमेट्स रह चुकी लड़कियों ने भी मार्शल आर्ट्स के हाथ दिखाए लेकिन सबसे ज्यादा तालियां दुल्हन के जोड़े में निशा के हिस्से में आईं।

निशा ने लंबी लाठी के साथ सिलाम्बरम आदिमुराई की कई कलाओं का प्रदर्शन किया। निशा ने “सुरुल वाल” (मुड़ी तलवार) के दौरान जो तेजी दिखाई, उसे देखकर सभी मेहमानों के मुंह खुले के खुले रह गए।

निशा की ख्वाहिश पुलिस अफसर बनने की है। वो साथ ही हौसला बढ़ाने के लिए अपने माता-पिता का शुक्रिया जताते नहीं थकतीं। निशा कहती हैं कि मुझे मेरे पेरेन्ट्स और रिश्तेदारों ने छोटी उम्र में ही यह आर्ट सीखने के लिए प्रेरित किया।

दूल्हे राजकुमार ने कहा कि पारम्परिक समारोहों की जगह इस तरह मार्शल आर्ट्स का प्रदर्शन कहीं ज्यादा उपयोगी है। इससे मार्शल आर्ट्स के विभिन्न स्वरूपों के लिए लोगों में जागरुकता बढ़ेगी। ये आर्ट मानसिक और शारीरिक, दोनों तौर पर इंसान को मजबूत करती है।