Union Budget 2022 में 5G सर्विस को लेकर बड़ा ऐलान किया गया है जिसके अब गांव जल्द ही हाईटेक होंगे। भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज बजट 2022 पेश किया है। इसमें उन्होंने देश में 5G और ऑप्टिकल फाइबर सेवाओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है। वित्तमंत्री ने कहा कि 2022-23 में 5G मोबाइल सर्विस के लिए स्पेक्ट्रम की नीलामी की जाएगी। इसके बाद से निजी दूरसंचार कंपनियां देश में 5G सेवाओं की शुरुआत करेंगी। 5G सर्विस के शुरू होने के बाद यूजर अपने 5G स्मार्टफोन का और बेहतर ढंग से इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके साथ ही 5G के आने के देशभर में इंटरनेट यूजर्स को हाई-स्पीड नेट सर्फिंग और फास्ट वीडियो स्ट्रीमिंग का बिल्कुल नया एक्सपीरियंस मिलेगा।

देश की वित्त मंत्री ने यह भी ऐलान किया कि साल 2025 तक देश के सभी गांवों में ऑप्टिकल फाइबर पहुंचा दिया जाएगा। गांवों में तय सीमा तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने के लिए पीपीपी यानी पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के माध्यम से ठेके दिए जाएंगे। ऑप्टिकल फाइबर पहुंचने से ग्रामीण और दूर-दराज के क्षेत्रों में सस्ते ब्रॉडबैंड और मोबाइल सेवा के लिए रिसर्च और डिवेलपमेंट को भी बढ़ावा दिया जाएगा। के हर गांव तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने का लक्ष्य सरकार की भारत नेट प्रोजेक्ट का हिस्सा है।

भारत में शहरों से लेकर गांवों तक 5G सर्विसेज को जल्द शुरू करने की जिम्मेदारी कंपनियों को दी जाएंगी। इसमें एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन-आइडिया शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण और दूर-दराज के क्षेत्रों में सस्ती दरों पर ब्रॉडबैंड और मोबाइल सेवा पहुंचाने के लिए Universal Service Obligation Fund का 5 फीसदी भी दिया जाएगा।

अब सबसे पहले 5जी सर्विस देश के 13 शहरों में शुरू हो सकती है जिनमें गुरुग्राम, बेंगलुरु, कोलकाता, मुंबई, चंडीगढ़, दिल्ली, जामनगर, अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद, लखनऊ, पुणे और गांधीनगर शामिल हैं। इन महानगरों और बड़े शहरों में 2022 में सबसे पहले 5जी सर्विस शुरू होंगी। विभाग के मुताबिक, टेस्टिंग प्रोजेक्ट में 224 करोड़ रुपये की लागत आई है।