नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ यानी RSS को लेकर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया द्वारा दिए बयान के बाद कर्नाटक में राजनीति गरमा चुकी है। राइट विंग (दक्षिणपंथी) के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। राइट विंग के कार्यकर्ता चड्डी इकट्ठा कर उसे बॉक्स में डालकर कांग्रेस कार्यालय भेज रहे हैं।

यह भी पढ़ें: इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के खिलाफ 16 मामले दर्ज

RSS कार्यकर्ताओं ने लोगों से ये चड्डी इकट्ठा की की और सिद्धारमैया के बयान के खिलाफ उसे कांग्रेस दफ्तर भेज दिया। बीजेपी के कई नेताओं ने सिद्धारमैया के आरएसएस के खिलाफ दिए बयान की निंदा की है। बीजेपी के महासचिव सीटी रवि ने कार्यकर्ताओं से  सिद्धारमैया के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की अपील की थी।

दरअसल, राज्य के शिक्षा मंत्री बी सी नागेश के आवास के सामने विरोध प्रदर्शन करने पर एनएसयूआई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तार को लेकर सिद्धारमैया कर्नाटक सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर रहे थे। जिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया था, वो पाठ्यपुस्तकों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की विचारधारा को शामिल करने का विरोध कर रहे थे।

इसी को लेकर सिद्धारमैया ने कांग्रेस के कार्यक्रम में कहा था कि हमने विरोध के दौरान केवल एक चड्डी-खाकी हाफ पैंट जलाई, इसे एक बड़े अपराध के रूप में देखा गया। कार्यकर्ताओं ने कोई असामाजिक कार्य नहीं किया, यह कैसे एक अवैध कार्य है? सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करना कानून का उल्लंघन नहीं है।

यह भी पढ़ें: सीएम एस्कॉर्ट वाहन से म्यूजिक सिस्टम चोरी करने वाला ड्राइवर गिरफ्तार

कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे कहा, 'संविधान हमें न्याय के लिए लड़ने का अधिकार देता है, यदि राज्य सरकार हमारे कार्यकर्ताओं को रिहा नहीं करती है, तो हम राज्यव्यापी 'चड्डी जलाओ- बर्न हाफ खाकी पैंट' अभियान शुरू करेंगे।' सिद्धारमैया के इसी बयान के बाद आरएसएस और अन्य राइट विंग के लोगों ने लोगों से चड्डी इकट्ठा कर उसे कांग्रेस दफ्तर भेज दिया।