नवादा। बिहार के नवादा मंडल कारा के विचाराधीन कैदी सूरज कुमार ने अपनी मेहनत से आईआईटी जैम में ऑल इंडिया का 54वां रैंक लाया है। जेल सूत्रों ने बुधवार को यहां बताया कि सूरज करीब 11 महीने से जेल में बंद है और जेल से ही सेल्फ स्टडी कर आईआईटी की परीक्षा में क्वालीफाई किया है। 

यह भी पढ़ें- ताश के पत्तों की तरह ढह गई पाकिस्तानी टीम, बनाया ये शर्मनाक शर्मनाक रिकॉर्ड

आईआईटी रुड़की द्वारा जारी रिजल्ट में उसे 54 वा रैंक मिला है। 13 फरवरी को इसकी परीक्षा हुई थी। गौरतलब है कि आईआईटी में सफलता हासिल करने वाला विचाराधीन कैदी कौशलेंद्र कुमार उर्फ सूरज कुमार वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के मोसमा गांव का रहने वाला है। 

यह भी पढ़ें- हर मनोकामना पूरी करने वाली शीतला सप्तमी आज , आज जरूर करें इस चालीसा का पाठ

19 अप्रैल को मौसमा में 45 वर्षीय संजय यादव की पिटाई हुई थी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। इसी मामले में 23 अप्रैल को सूरज कुमार सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था।