ऊपरी असम के तिनसुकिया तथा डिब्रूगढ़ में अल्फा (स्वा) को  आज एक जोरदार झटका लगा, जब संगठन के छह खूंखार उग्रवादियों ने आज गुवाहाटी में कई हथियारों के साथ आत्मसमर्पण कर दिया । 

मालूम हो कि समर्पण करने वाले सभी अल्फाई तिनसुकिया और डिब्रूगढ़ जिले में सक्रिय थे तथा शक्ति  प्रदर्शन करने के लिए पिछले कुछ दिनों से व्यापक हमले और धन उगाही कर रहे थे । खास कर तिनसुकिया और डिब्रूगढ़ में अल्फा ( आई) को ऐसी सक्रियता के बीच आज अल्फ ( स्वा ) को एक करारा झटका मिला, जब गुवाहाटी में छह खूंखार सदस्यों ने आत्मसमर्पण कर हथियार डाल दिया । 

इनमें अल्फाई अभिजीत असम उर्फ अनुज असम सहित शुकलंग असम उर्फ प्रणव गोगोई, मृदु असम उर्फ अपूर्व मोरान, मानव असम उर्फ सत्यजीत मोरान, सियांग असम उर्फ जिशू दोले  व दुर्लभ असम उर्फ त्रस्तुराज मोरान शामिल है । ये सभी लम्बे समय से अल्फा के लिए काम कर रहे थे तथा संगठन को मजबूत बनाने का काम कर रहैं थे । 

आत्मसमर्पण करने वाले इन सदस्यों ने दो ग्रेनेड, 30, सजीव गोली, एक एमक्यू-81 रायफल, एक एचक्यू-33 रायफल एक एके- 56 रायफल, आठ मैगजीन सहित कई विस्फोटक सामग्रियां जमा की  थी  । इन छह खूंखार अल्फाईयों के साथ अल्फा ( आई ) के शीर्ष नेताओं के साथ हुई कुछ अन-बन के कारण इन अल्फाइयों  के आत्मसमर्पण करने की बात सामने आई है । 

गौरतलब हो कि उपरी असम में जहां रूपम असम, जान असम जैसे कर अल्फाई अपने आपको जताने के लिए कुठाराघात तथा धन उगाही और नए सदस्य भर्ती कर रहे हैं । इसी बीच इस आत्मसमर्पण की घटना ने अल्फा (स्वा) को करारा झटका दिया है । 

जहां  एक तरफ अल्फा (स्वा ) तकनीकी रूप से प्रशिक्षित नए युवक-युवतियों को  शामिल करके संगठन को शक्तिशाली करने का प्रयास कर रहा है वहीं ऐसे विशेष रूप से प्रशिक्षित कट्टर अल्फाइयों  द्वारा अल्फा (स्वा ) का दमन छोड़ना अल्फा के लिए भारी नुकसानदायक साबित हो सकता है ।