असम में उल्फा-आई नाम से कुख्यात विद्रोही संगठन एकबार फिर से हरकत में आ गया है। इस संगठन के विद्रोहियों ने मोरेन स्थित हाजुआ टी एस्टेट के कार्यालय के बाहर सरेआम धनाधन गोलियां बरसाई हैं। विद्रोहियों ने इस घटना को 9 जून की रात देर तक अंजाम दिया। इनका मकसद इस कार्यालय से पैसा लूटने का था।

5 लाख रूपए की मांग

सूत्रों के अनुसार उल्फा-आई के विद्रोहियों ने हजुआ टी गार्ड के असिस्टेंट मैनेजर शाहनवाज अनवर से 5 लाख रूपए की मांग रखी थी। इसके बाद 9 जून की रात को दो विद्रोही दो मोटरसाइकिलों पर सवार हो आए। इन्होंने कार्यालय कर्मियों से अनवर के बारे में पूछा। जब इन लोगों के बारे मे कार्यालय के सुरक्षा गार्डो सूचित किया गया तो उन्होंने धनाधन गोलिया बरसाना शुरू कर दिया।

  

तीन राउंड गोलिया चलाकर फरार

सुरक्षा गार्डों को सूचित करते ही लूटने आए बाइक सवार विद्रोहियों ने 3 तीन राउंड हवाई फायर कर दिए और वहां फरार हो गए। इस बारे में पुलिस जांच कर रही है। लेकिन इस घटना से इलाके में दहशत माहौल होने के साथ सनसनी फैली हुई है।