असम राइफल्स की चांगलांग बटालियन ने चांगलांग जिले की पुलिस के साथ मिलकर यूनाइटेल लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा आई) कैडर के एक शीर्ष कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया है। उल्फा (आई) का यह शीर्ष कार्यकर्ता जिले के दूरदराज क्षेत्र से सुरक्षा बलों के खिलाफ विध्वंसक गतिविधियों की योजना बना रहा था।


उल्फा (आई) कार्यकर्ता की पहचान रूपांटो मोरन (30) के रूप में हुई है, जो असम के तिनसुकिया का निवासी है। सुरक्षा बलों ने खुफिया सूचनाओं के आधारपर खीमियांग, यनमन, न्गोइटंग और आसपास के कई क्षेत्रों एक सप्ताह के लंबे अभियान के बाद चांंगलांग जिले के जोंगफोहाटे से कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया और इस दौरान उसके पास से बड़ी संख्या में हथियार बरामद किये गये।


पूछताछ के दौरान कार्यकर्ता ने बताया कि वह इस प्रतिबंधित संगठन में 2016 में शामिल हुआ था और म्यांमार के टांगा शविर में प्रशिक्षण ली थी। उल्फा (आई) में शामिल होने से पहले उसने तीन वर्षों तक चेन्नई में निजी सुरक्षा गार्ड का काम किया था।