यूक्रेन के विदेश मंत्रालय ने इन रिपोर्टों का खंडन किया है कि उसके यात्री विमान को अफगानिस्तान में तालिबान ने अपहृत कर लिया है। मंत्रालय ने कहा कि यह विमान अफगानिस्तान से 256 लोगों को निकाल कर यहां सुरक्षित उतर गया है। इससे पहले देश के उप विदेश मंत्री येवघेनी येनिन ने कहा था कि अफगानिस्तान में जो विमान यूक्रेन के लोगों को लेने गया था, ऐसा माना जाता है कि उसका अपहरण कर लिया गया है और उसका इस्तेमाल अन्य यात्रियों को ले जाने के लिए किया गया था। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता निकोलेंको ने बताया कि अफगानिस्तान या किसी भी अन्य स्थान पर यूक्रेन के विमान का अपरहण नहीं किया गया है और विमान अपरहण की जानकारी कुछ मीडिया संस्थानों में प्रसारित की गई है जो पूरी तरह झूठ है। उन्होंने बताया कि यूक्रेन के सभी विमान स्वदेश सकुशल लौट आए हैं और अफगानिस्तान से 256 यूक्रेनी लोगों को निकाल लिया गया है। प्रवक्ता ने यह भी बताया कि येनिन काबुल हवाई अड्डे पर मची उथल-पुथल के बारे में चर्चा कर रहे हैं और वहां से लोगों को निकालने में हमारे राजनयिकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

यूक्रेन विदेश मंत्रालय अफगानिस्तान में अभी रह रहे अपने नागरिकों से लगातार संपर्क बनाए हुए है और वहां से उन्हें सकुशल निकालने के तौर तरीकों पर विचार कर रहा है। गौरतलब है कि इस समय अफगानिस्तान की सभी सीमाओं पर तालिबान का कब्जा है और वहां फंसे विदेशी नागरिकों को निकालने का कार्य काबुल हवाई अड्डे से किया जा रहा है जहां अमेरिकी और नाटो सैनिक तैनात हैं। तालिबान ने 15 अगस्त को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा कर पूरे देेश को अपने नियंत्रण में ले लिया था, लेकिन अभी तक पंजशीर घाटी पर उसका कब्जा नहीं हो सका है। उसके बाद से ही अन्य देशों ने अफगानिस्तान में फंसे अपने नागरिकों को निकालने के प्रयास शुरू कर दिए थे।