यूक्रेन में अगस्त के महीने में आजादी के 30 साल पूरे होने पर जश्न मनाया जाएगा। इसकी तैयारी अभी से शुरू हो गई है। इसकी तैयारी की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं। इसमें महिला सैनिकों से परेड के दौरान हील सैंडल पहनाकर प्रैक्टिस करवाई गई। तस्वीरें सामने आते ही बवाल शुरू हो गया।

यूक्रेन में कई बार सैनिकों ने यूनिफॉर्म के फुटवियर जुड़ी शिकायतें की है। उनके मुताबिक ये काफी अनकम्फर्टेबल हैं। परेड के दौरान उन्हें काफी दिक्कत होती है। इस समस्या के समाधान में यूक्रेन की डिफेन्स मिनिस्ट्री ने महिलाओं के फुटवियर में बदलाव किया है। अब इन्हें काले रंग की हील सैंडल में परेड की प्रैक्टिस करनी पड़ रही है। एक महिला सिपाही ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये मुश्किल है, लेकिन वो कोशिश कर रही हैं। 

बता दें कि अगले महीने यूक्रेन के सोवियत यूनियन से अलग होने साल पूरे हो जाएंगे। उसकी के उपलक्ष्य में इस परेड को करवाया जाएगा। जैसे ही परेड की प्रैक्टिस की तस्वीरें सामने आई, विवाद शुरू हो गया। एक शख्स ने लिखा कि महिलाओं के प्रति सोच को बदलने की जरुरत है। साथ ही कई ने इसे सेक्सिस्म और दिखावे से जोड़ा। देश के अंदर ही इसपर काफी बहस छिड़ गई है।  कई ने इस फैसले को बेवकूफी भरा बताया। एक ने कहा कि आजादी में महिलाओं की भी बराबर भागीदारी थी, अगर वो हील्स पहन रही हैं तो पुरुषों से भी हील्स में परेड करवाई जाए।