मॉस्को। क्रेमलिन ने कहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने शनिवार को जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ फोन पर बातचीत में यूक्रेनी सैनिकों द्वारा अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून के उल्लंघनों के बारे में जानकारी दी। 

यह भी पढ़ें- Sheetala Ashtami 2022: शीतला अष्टमी 25 मार्च को, जानें पूजन का शुभ मुहूर्त, शीतला माता की महिमा व व्रत महत्व

बयान में कहा गया, 'उन्होंने (राष्ट्रपति पुतिन) यूक्रेनी सुरक्षा बलों द्वारा अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून के खुले तौर पर उल्लंघन के कई तथ्यों का हवाला दिया। इसमें नागरिकों को बंधक बना लेना और उन्हें ढाल के रूप में उपयोग करना, आवासीय क्षेत्र में भारी तोपखाना तैनात करना इत्यादि शामिल हैं।' 

यह भी पढ़ें- पंजाब में आप सरकार बनने से पहले बड़ा फैसला, सभी पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों की सुरक्षा वापस लेने के आदेश जारी

पुतिन ने कहा कि यूक्रेन की पलटनें बचाव अभियान को बाधित कर रही हैं और नागरिकों को डरा रही हैं क्योंकि वे इस संघर्ष से बचने की कोशिश कर रहे हैं।