यूक्रेन के लुट्स्क शहर में एक हाईजैकिंग का फिल्मी अंदाज में अंत हुआ। यहां बस में सवार 10 लोगों को बंधक बनाया गया। पुलिस और प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद भी जब बंधक ने लोगों को नहीं छोड़ा तो खुद राष्‍ट्रपति वोलोदयमयर जेलेंस्‍की ने बंदूकधारी से बात की। 

इसके बाद राष्‍ट्रपति ने एक वीडियो मैसेज पोस्‍ट किया। दरअसल, इस बंदूकधारी ने राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की से बस में बैठे बंधकों को रिहा करने के बदले एक वीडियो मैसेज जारी करने की शर्त रखी थी। राष्‍ट्रपति को अपने संदेश में कहना था, सभी लोगों को वर्ष 2005 में आई फिल्‍म अर्थलिंग्‍स को देखना चाहिए। इसके बाद राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने वीडियो मैसेज जारी करके लोगों से फिल्म देखने की अपील की। राष्‍ट्रपति की अपील के बाद बंदूकधारी मान गया और वादे के अनुसार सभी बंधकों को छोड़ दिया। 

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार हमलावर ने किसी बंधक को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया है। आरोपी की पहचान मकयस्‍म क्रयवोश के रूप में हुई है। राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने बताया कि घटना के दौरान वह अपने स्विस समकक्ष के साथ बैठक में थे और हमलावर से बात करने के लिए और घटना की अपडेट लेने के लिए वे बार-बार बैठक से ब्रेक ले रहे थे। राष्ट्रपति ने हमलावर से सात से दस मिनट बात की और उनकी शर्त मानते हुए फिल्म देखने का वीडियो जारी किया। यह वीडियो राष्‍ट्रपति ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किया, जिसके बाद बंधकों को रिहा किया गया। यह फिल्म पशुओं के अधिकारों के बारे में है।