रूस-यूक्रेन युद्ध दो महीने होने को आए लेकिन युद्ध खत्म होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। इस युद्ध किसी जीत होगी इस बारे कोई भविष्यवाणी नहीं है लेकिन युद्ध दोनों देश कमजोर हो रहे हैं। हाल ही कि बात करें तो यूक्रेनियन सेना ने रूसी सैनिकों की हालात खराब कर दी है। दरअसल रूस ने ओडेसा एयरपोर्ट पर हमला किया है जिसका बदला यूक्रेनियन सेना ने आसमान में लिया है।


यह भी पढ़ें- MLA जिग्नेश मेवाणी की जमानत पर भड़के असम मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा


ओडेसा के रीजनल गवर्नर ने कहा कि रूस के कब्जे वाले क्रीमिया से रॉकेट दागा गया। इसमें किसी के घायल होने की कोई खबर नहीं है। वहीं, रूसी सेना द्वारा ओडेसा में उड़ाए गए रनवे का बदला यूक्रेन उससे हवा में लिया है। यूक्रेन ने रूस के दो सुखोई और 7 UAV मार गिराए हैं।

यह भी पढ़ें- असम पुलिस ने 3 'जिहादी' मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, AQIS के नेता गिरफ्तार
अमेरिका और यूरोपीय देश यूक्रेन के साथ

रूस और यूक्रेन की जंग के बीच अमेरिका के साथ-साथ यूरोपीय देश भी खुलकर यूक्रेन की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। नॉर्वे ने यूक्रेन को मिस्ट्रल एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्टम दिया है। वहीं, डेनमार्क भी बड़ी तादाद में यूक्रेन को हथियार देने की योजना बना रहा है।


डेनमार्क के मीडिया समूह OLFI की रिपोर्ट के मुताबिक, डेनमार्क यूक्रेन को दर्जनों बख्तरबंद गाड़िया और मोर्टार देने जा रहा है। डेनमार्क की तरफ से यूक्रेन को 25 पिरान्हा-3 बख्तरबंद गाड़िया, 50 M-113 बख्तरबंद गाड़ियां, और M-10 मोर्टार के साथ हजारों की तादाद में गोले मिलेंगे।