कीव। यूक्रेन ने रूस के साथ दूसरी बार कैदियों की अदला-बदली की है। ये घोषणा यूक्रेन की उप प्रधानमंत्री इरिना वीरेशचुक ने की। यूक्रेनइंस्का प्रावदा ने एक बयान में वीरेशचुक के हवाले से कहा, शुक्रवार को '86 के लिए 86' कैदी की अदला-बदली राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की के आदेश पर हुई।

यह भी पढ़ें- श्रेयस अय्यर ने वानखेड़े स्टेडियम की पिच के लिए बोल दी ऐसी बात , KKR प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर

उप प्रधानमंत्री के अनुसार घर लौटे 86 कैदियों में 15 महिला सिपाही शामिल हैं। वीरेशचुक ने कहा कि इसका उद्देश्य यूक्रेनी पक्ष के प्रमुख पदों में से एक 15 महिला सैनिकों को शामिल करना था। इसकी पुष्टि करते हुए राष्ट्रपति कार्यालय के उप प्रमुख, किरिलो टिमोशेंनको ने कहा कि ये अदला-बदली वर्तमान में यूक्रेन की सरकार के नियंत्रित क्षेत्र में हुई।

यूक्रेइंस्का प्रावदा की रिपोर्ट के अनुसार, 24 मार्च को यूक्रेनी अधिकारियों ने 10 के लिए 10 पहले कैदियों की अदला-बदला की, जबकि रूस की सेना के कब्जा से बचाए गए जहाज सैफिर के 19 चालक दल के सदस्यों को भी बचाया गया। अधिकारियों ने मेलिटोपोल के अपहृत मेयर इवान फेडोरोव के लिए 9 रूस के सैनिकों की अदला-बदली की।

यह भी पढ़ें- केंद्र ने पांच राज्यों के लिए खोला खजाना, अतिरिक्त सहायता की मंजूरी

तो वहीं 1 मार्च को सूमी क्षेत्र में स्थानीय अधिकारियों ने क्षेत्रीय रक्षा बलों से पांच यूक्रेनी सेनानियों के लिए एक रूसी कमांडर के साथ अदला-बदली की। यूक्रेन ने दावा किया है कि 24 फरवरी को युद्ध शुरू होने के बाद से 24 स्थानीय सरकारी अधिकारियों का अपहरण कर लिया गया है।