कीव। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की (Ukrainian President Volodymyr Zelensky) ने कहा है कि रूस के साथ संबंधों के कारण यूक्रेन के 11 राजनीतिक दलों को निलंबित कर दिया गया है। यूक्रेन की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा परिषद ने इन पार्टियों को किसी भी राजनीतिक गतिविधि से प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया है। ब्रिटिश अखबार द गार्जियन के अनुसार जेलेंस्की ने रविवार को एक वीडियो संबोधन में कहा, 'विभाजन या मिलीभगत के उद्देश्य से उन राजनेताओं की गतिविधियाँ सफल नहीं होंगी, बल्कि उन्हें कड़ी प्रतिक्रिया मिलेगी।'

यह भी पढ़ें- नागालैंड : राज्यसभा की अकेली सीट के लिए उम्मीदवार उतारेंगे बीजेपी और एनपीएफ

उन्होंने कहा, 'राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा परिषद ने रूस द्वारा शुरू किए गए पूर्ण पैमाने पर युद्ध और उसके यूक्रेन की कई राजनीतिक संरचनाओं के राजनीतिक संबंधों को देखते हुए, मार्शल लॉ की अवधि के लिए कई राजनीतिक दलों की किसी भी गतिविधि को निलंबित करने का फैसला लिया है।' 

यूक्रेन की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी की 450 सीटों वाली यूक्रेनी संसद में 44 सांसद है और उसके नेता विक्टर मेदवेदचुक है, जिन्हें रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का करीबी माना जाता है। उधर, निलंबित की गयी पार्टियों के अधिकारियों के मुताबिक निलंबन का 'कोई कानूनी आधार नहीं है।' 

यह भी पढ़ें- ऑनलाइन ज़ूम लेक्चर के दौरान चल गई पोर्न फिल्म , फेसबुक और यूट्यूब पर भी लाइव स्ट्रीम किया जा रहा था

द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार रविवार को प्रतिबंधित दलों की सूची में येवेन मुरायेव के नेतृत्व वाली नाशी (हमारी) पार्टी भी शामिल है। साथ ही कई ऐसे छोटे दलों को भी प्रतिबंधित किया गया है, जिनका संसद में कोई प्रतिनिधि नहीं है।