ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोविड-19 वैक्सीन एस्ट्राजेनेका का पहला टीका लगाने के साथ ही इस वैक्सीन को लेकर उठाए जा रहे संदेहों को भी खारिज कर दिया है। उन्होंने सभी लोगों से इसके इस्तेमाल की अपील करते हुए कहा कि वैक्सीन लगाने से उन्हें किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई। लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल में वैक्सीन लगवाने के बाद जॉनसन ने कहा, वैक्सीन लगाकर मुझे अच्छा महसूस हो रहा है। ये बहुत जल्दी हो गया और मुझे कोई परेशानी भी नहीं हुई। उन्होंने कहा, मैं लोगों से अपील करता हूं, जब भी आपको वैक्सीन लगवाने को लेकर निर्देश मिले, आप टीका लगवाने जरूर जाएं।

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्वीट करते हुए कहा, मैंने अभी अभी ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का अपना पहला टीका लगवाया है। इस अवसर पर मैं इस कार्य में लगे सभी असाधारण वैज्ञानिकों, स्टाफ और वालंटियर्स का धन्यवाद करता हूं। हमारी जिंदगी को वापस पटरी पर लाने के लिए वैक्सीन सबसे बेहतर विकल्प है। बता दें कि, ब्रिटेन में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान तेजी से चल रहा है। यहां के आधे से ज्यादा वयस्कों को अब तक इसकी पहली डोज दी जा चुकी है।

गौरतलब है कि फ्रांस, स्पेन, इटली और जर्मनी ने एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी। इन देशों का कहना था कि वैक्सीन के इस्तेमाल से लोग खून के थक्के जमने की शिकायतें कर रहे हैं। वहीं डब्ल्यूएचओ और यूरोपीय संघ की ड्रग रेगुलेटरी एजेंसी ने वैक्सीन को पूरी तरह सुरक्षित बताते हुए कहा था, हमारी वैज्ञानिक राय ये है कि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन लोगों को कोविड-19 से बचाने में पूरी तरह से सेफ और प्रभावकारी है।