पंजाब सरकार ने विभिन्न विभागों में काम कर रहे स्टेनो टाइपिस्टों को ध्यान में रखकर एक अहम निर्णय लिया है। अब बिना स्टेनोग्राफी का टेस्ट दिए ही प्रमोट कर दिया जाएगा। प्रदेश सरकार ने ये फैसला 50 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए लिया है। 

राज्य में विभाग ने 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को प्रमोट करने का फैसला लिया है। विभाग ने अपने  आदेशों के जरिए बताया कि विभिन्न विभागों में ऐसे कई स्टेनो टाइपिस्ट काम कर रहे हैं जो 50 वर्ष से अधिक हो चुके हैं। लेकिन उनका प्रमोशन टेस्ट पास न करने की वजह से रुक जाता है। 

इसलिए इन टाइपिस्टों की तरक्की के बारे में सोचते हुए प्रदेश सरकार ने  सभी विभागों को हिदायत दी जाती है कि वे अपने विभाग में 50 साल से अधिक उम्र के स्टेनो टाइपिस्टों को प्रमोट करें। इसके लिए उन्हें परीक्षा से छूट दी जानी चाहिए। लेकिन टेस्ट के अलावा अन्य सभी जरूरी नियमों का पूरी तरह पालन किया जाए।