सिवनी। मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में गौ तस्करी के शक में उग्र लोगों ने दो आदिवासियों की पीट-पीट कर हत्या कर दी। वहीं एक घायल है। इस घटना के विरोध में ग्रामीण सड़क पर उतर आए और उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 44 पर जाम लगा दिया। कई किलो मीटर दोनों ओर वाहनों की कतार लगी रही। कांग्रेस का आरोप है कि इस हत्याकांड में बजरंग दल के लोग शामिल हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, कुरई थाना क्षेत्र के सिमरिया गांव में एक घर में गौ हत्या कर मांस निकाले जाने की सूचना मिली। इस पर कुछ लोग वहां पहुंचे और जिन पर शक था उनसे मारपीट शुरू कर दी। इस मारपीट में दो की मौत हो गई, जबकि एक घायल है। इसके बाद मंगलवार की सुबह जब आदिवासी समुदाय को इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग 44 पर आकर चक्का जाम कर दिया।

ये भी पढ़ेंः 2024 का विधानसभा चुनाव 'अंतिम चुनावी लड़ाई': पवन चामलिंग

कुरई से कांग्रेस विधायक अर्जुन माकोडिय़ा सहित अनेक लोग मौके पर पहुंच गए और उन्होंने जाम लगा दिया है। सड़क के दोनों ओर कई किलो मीटर लंबी वाहनों की कतार लग गई। प्रशासन लोगों को समझाया, मगर भीड़ की मांग है कि पीडि़त परिवार को नौकरी के अलावा एक करोड़ का मुआवजा दिया जाए।

कांग्रेस का आरोप है कि सिवनी जिले में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने दो आदिवासी की पीट-पीट कर हत्या की एवं एक युवक की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है, कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह माकोडिय़ा धरने पर बैठे और बोले, शिवराज जी, ये जंगलराज नहीं तो क्या है...?

ये भी पढ़ेंः SDF और SKM कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, धारदार हथियार से हमला-फायरिंग का आरोप, अलर्ट पर राज्य

वहीं कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने कहा, सिवनी जिले के आदिवासी ब्लॉक कुरई में दो आदिवासी युवकों की निर्मम हत्या किये जाने की बेहद दुखद जानकारी मिली है, इस घटना में एक आदिवासी युवक गंभीर रूप से घायल है। परिवारजनों व क्षेत्रीय ग्रामीणजनों द्वारा आरोपियों के बजरंग दल से जुड़े होने की बात कही जा रही है।

कमल नाथ ने सरकार से मांग की है कि, इस घटना की उच्च स्तरीय जांच की घोषणा कर, दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए, पीडि़त परिवारों की हरसंभव मदद की जाए व घायल युवक के सरकारी खर्च पर इलाज की संपूर्ण व्यवस्था हो।