उत्तर कश्मीर के बांदीपोरा में रविवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड में दो आतंकवादी मारे गए। इनमें से एक आतंंकवादी भारतीय जनता पार्टी नेता शेख वशीम बारी की हत्या में शामिल था। पुलिस प्रवक्ता ने यह जानकारी दी है। 

बारी और उनके पिता बशीर अहमद तथा भाई उमर बशीर की आतंकवादियों ने जुलाई 2020 में गोली मार कर हत्या कर दी थी। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि बांदीपोरा के वातिनरा में आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया जानकारी मिलने केे बाद राष्ट्रीय रायफल्स, जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान दस्ते और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल ने एक संयुक्त खोजी अभियान चलाया। 

सुरक्षा बल जैसे ही उस स्थान की तरफ बढ़ रहे थे तो वहां छिपे आतंकवादियों ने उन पर स्वचलित हथियारों से गोलियां चलानी शुरू कर दी और सुरक्षा बलों ने भी इसका करारा जवाब दिया। प्रवक्ता ने बताया कि इस दौरान सुरक्षा बलों की गोलीबारी में दो आतंकवादी मारे गए और उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किया गया। इनमें से एक आतंकवादी भाजपा नेता बारी , उनके पिता और भाई की हत्या में शामिल था और यह घटना जुलाई 2020 में बांदीपोरा में उस समय अंजाम दी गई थी जब वे अपने दुकान सह आवास के बाहर खड़े थे। इस घटना के बाद बारी के परिजनों की सुरक्षा में लगाए गए दस पुलिस जवानों को निलंबित कर दिया थाा और बाद में उन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने उस समय दावा किया था कि उस हमले के पीछे जैश ए मोहम्मद का हाथ था।