मेघालय में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा को बड़ी सफलता मिली है। कांग्रेस के नेतृत्व वाली मेघालय यूनाइटेड अलायंस(एमयूए) सरकार को समर्थन दे रहे दो निर्दलीय विधायक सोमवार को भाजपा में शामिल हो गए।

आपको बता दें कि मेघालय में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव है। दो निर्दलीय विधायकों का विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल होना कांग्रेस के लिए तगड़ा झटका है। दोनों विधायकों को राज्य के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने संसदीय सचिव नियुक्त कर मंत्री के बराबर दर्जा दिया था। दोनों निर्दलीय विधायक नई दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, नॉर्थ ईस्ट के प्रभारी महासचिव राम माधव, असम के वित्त मंत्री और नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के चेयमैन हिमंता बिस्वा सरमा, मेघालय के प्रभारी नलिन कोहली, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष शिबुन लिंगदोह व अन्य पार्टी नेताओं की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन की।

भाजपा में शामिल होने वाले विधायक हैं आर. सिंग्कोन और जस्टिन डी। दोनों जैंतिया हिल्स से आते हैं। सिंग्कोन और जस्टिन डी. ट्राइबल ईसाई हैं,यह वह समुदाय है जो बीफ बैन को लेकर नाराज था और जिसे भाजपा अपने पाले में करने के लिए प्रयासरत है। प्रदेश उपाध्यक्ष जे.ए.लिंगदोह ने कहा, इन दो नेताओं के शामिल होने से आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को न केवल जैंतिया हिल्स बल्कि पूरे राज्य में बल मिलेगा। हम मेघालय के लोगों को भरोसा दिला सकते हैं कि अगर भाजपा सत्ता में आई तो राज्य का संपूर्ण विकास होगा और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार मिलेगी।

प्रदेशाध्यक्ष शिबुन लिंगदोह ने कहा कि अन्य राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में दिखा है कि लोग पहले से ही भाजपा के साथ हैं। उम्मीद है कि  ऐसा मेघालय में भी होगा। आम लोगों ने मानस बना लिया है कि भाजपा ही आगामी विधानसभा चुनाव में एक मात्र विकल्प है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे प्रधानमंत्री का मुख्य नारा है सबका साथ सबका विकास। हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि तीन और निर्दलीय विधायक और एक कांग्रेस विधायक उस वक्त पार्टी में शामिल हो रहे हैं  जब अमित शाह अगले माह राज्य के दौरे पर जाने वाले हैं।

उन्होंने चारों के नाम बताने  से इनकार कर दिया। सिंग्कोन और जस्टिन डी. एसटी के लिए सुरक्षित सीटों से विधायक थे। 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा में जनरल कैटेगरी के लिए सिर्फ पांच सीटें आती है। शेष सभी सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। सरमा ने कहा, यह भाजपा के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। दोनों कांग्रेस सरकार में संसदीय सचिव के रूप में सेवाएं दे रहे थे। दोनों जयंतिया ट्राइब से ताल्लुक रखते हैं। हमें जल्द ही और ब्रैकथ्रू मिलने की उम्मीद है। कम से कम तीन निर्दलीय विधायक और एक कांग्रेस विधायक भाजपा में शामिल होंगे। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि विधानसभा चुनाव में सिर्फ पांच माह शेष हैं।