राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को नशे में डूबोने की मंशा से आए दो लोगों समेत पुलिस ने 125 करोड़ की हेरोइन जब्त की है। नशे का कारोबार करने आए इन दोनों लोगों को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि ये लोग अंतरराज्यीय गिरोह के सदस्य थे जिनका अब पर्दाफाश हो गया है।

पुलिस द्वारा पकड़े गए दोनों आरोपी थाईलैड, ल्हासा और म्यांमार से हेरोइन की खेप की तस्करी कर भारत के पूवरेतर राज्यों के रास्ते दिल्ली-एनसीआर में तस्करी के लिए लाते थे। पुलिस ने इनके कब्जे से बेहद उम्दा किस्म की 25 किलोग्राम हेरोइन बरामद की है जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 125 करोड़ रुपए आंकी जा रही है। पुलिस ने तस्करी में के लिए काम में ली गई एक स्कॉर्पियों कार व तस्करी के लिए काम में लिए जाने वाले मोबाइल फोन और सिम कार्ड भी जब्त किए हैं। पुलिस द्वारा पकड़े गए इन लोगों की पहचान चामलिंग अमोल (24)निवासी मणिपुर जिला सेनापति, माधव गौतम(40)निवासी मणिपुर जिला ईस्ट इम्फाल के रुप में की गई है।

स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव कुमार यादव ने कहा है कि पकड़े गए दोनों आरोपी मणिपुर के रहने वाले है। पिछले कुछ समय के भीतर स्पेशल सेल की टीम ने ड्रग्स तस्करों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान कई तस्करों को गिरफ्तार किया था। इसी दौरान पुलिस को चला कि मणिपुर और म्यांमार की बॉर्डर के रास्ते से ड्रग्स की तस्करी बड़े पैमाने पर की जा रही है। यहां पर गोल्डन ट्राएंगल एरिया (लहासा, थाईलैंड और म्मांमार) के इलाके से ड्रग्स की तस्करी की जा रही थी। इसके बाद गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने कराला-बवाना रोड पर घेराबंदी की और तस्कर चामलिंग अमोल को कार समेत गिरफ्तार कर लिया जिसके उसें जेल भेज दिया गया।