हिन्दू धर्म में शादी के रस्मों रिवाजों के चलते दूल्हा बारात लेकर, घोड़ी पर बैठकर दूल्हन को लेने उसके घर जाता है।  और उसके ही घर शादी कर उसे अपने साथ लेकर आता है।  लेकिन यहां पर कुछ मामला गड़बड़ा गया।  दरअसल एक दुल्हन को लेने के लिए दो बारात पहुंच गई।  यह मामला देखकर लोग भी हैरान हो गए और दुल्हन भी हैरान हो गई।  उत्तर प्रदेश के कन्नौज से यह मामला सामने आया है। 

दरअसल उत्तर प्रदेश के कन्नौज में जहां ककलापुर गांव में रामसेवक की 20 वर्षीय पुत्री मोहिनी की शादी पास के ही सौरिख थाना क्षेत्र के फूलनपुर गांव के निवासी पंकज पुत्र बबलू से तय हुई।  जब गुरुवार को पंकज बारात लेकर दुल्हन के घर पहुंचा तो द्वारचार की रस्म के दौरान ही छिबरामऊ थाना क्षेत्र के हयातनगर निवासी राजाराम का पुत्र अजीत भी मोहनी से शादी करने के लिए उसके घर पहुंच गया।  मतलब एक ही दुल्हन के घर दो दूल्हे बारात लेकर पहुंच गए।  ऐसा होने पर अजीबो गरीब स्थिति पैदा हो गई। 

मामले की जांच में पता चला कि जो दूसरी बारात थी, वह दुल्हन के प्रेमी की बारात थी।  जी हां अजीत और मोहिनी एक दूसरे को पसन्द करते थे, लेकिन मोहिनी के परिजन दोनों की शादी के लिए तैयार नहीं थे।  ऐसे में तय रिश्ता के मुताबिक बारात पहुंचने की जानकारी अजीत को मिली तो वह खुद वहां अपने परिजनों के साथ पहुंच गया।  धीरे-धीरे यह मामला गंभीर रूप लेता नजर आया।  घटना की जानकारी तिर्वा कोतवाली पुलिस को दी गई। 

पुलिस ने तीनों पक्षों को थाने में लाकर बैठा दिया।  फिर लड़की से उसकी सहमति पूछी तो उसने अपने प्रेमी अजीत के साथ विवाह करने की बात कही।  ऐसा करने पर पुलिस ने प्रेमी जोड़े का साथ दिया और लड़की को अजीत के साथ भेज दिया और जो बारात आई थी उसे बिन दुल्हन के साथ ही लौटना पड़ा।  तिर्वा कोतवाली प्रभारी ने बताया कि लड़की बालिग है, इस कारण वह अपनी स्वेच्छा से यह शादी कर सकती है।