अगरतला।  त्रिपुरा में एक लोकल टीवी चैनल में काम करने वाले पत्रकार की हत्या कर दी गई। पुलिस के अनुसार, कथित तौर पर आदिवासी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने शांतनु भौमिक की हत्या की। 

जानकारी के अनुसार एहतियात के तौर पर त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में इंटरनेट सेवा पर बैन लगा दिया गया है। बताया जा रहा है कि हत्या से पहले पत्रकार का अपहरण कर लिया गया था।

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक ने जानकारी दी कि एक  न्यूज चैनल के पत्रकार मंडई में आईपीएफटी के सड़क जाम तथा आंदोलन को कवर करने गये थे। इसी दौरान उन पर पीछे से हमला कर दिया गया और उनका अपहरण कर लिया गया। उन्होंने कहा कि बाद में पत्रकार का पता लगा और उनके शरीर पर चाकू से हमले के कई निशान पाये गये। उन्हें फौरन अगरतला स्थित गोविंद वल्लभ पंत मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ले जाया गया जहां डक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

भौमिक अपने साथियों के साथ मंडाई इस घटना को कवर करने गए थे। बता दें ये ऐसा पहला मामला नहीं है जब किसी पत्रकार को निशाना बनाया गया हो। इससे पहले कन्नड़ की वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की कुछ बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।