कोरोना वायरस से बचाने के सभी देशों ने सख्ती से इंतजाम कर रखे हैं लेकिन ये महामारी रुकने का नाम ही नहीं ले रही है। अगर बात करें अमेरिका की तो इसने अपने देश के कई बड़े-बड़े शहर बंद कर दिए हैं साथ ही लोगों को अपने घर के अंदर रहने की हिदायत दी है। इन्हीं के बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आई जिसमें अमेरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की वजह से एक शख्स ने आत्महत्या कर ली है। माना जा रहा है कि उस शख्स और उसकी पत्नी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सलाह से दवाई ली। दवाई के नाम से मिलत-जुलता एक गलत केमिकल पति-पत्नी ने पी लिया। इसकी वजह से पति की मौत हो गई और पत्नी अभी भी हॉस्पिटल में मौत से जूझ रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक कपल ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए मछली के टैंक को साफ करने वाला केमिकल पी लिया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जिसका जिक्र अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया था उस दवा का नाम और केमिकल का मिलता जुलता ही है इसके पीते ही पति-पत्नी की तबीयत बिगड़नी शुरू हो गई और दोनों को हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ा, जहां पति की मौत हो गई और पत्नी की स्थिति नाजुक बताई जा रही है।

अमेरिका में एरिजोना की स्वयंसेवी संस्था बैनर हेल्थ लोगों को बता रही है कि कोरोना वायरस का खुद के मुताबिक इलाज करना कितना जानलेवा साबित हो सकता है। जानकारी के मुताबिक कपल ने क्लोरोक्वीन फॉस्फेट नाम का एक केमिकल पी लिया था। उनदोनों का लगा कि इसका जिक्र बड़ी मजबूती से डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस के इलाज के लिए किया था तो दोनों ने पी लिया और पीने के 30 मिनट के भीतर ही पति की मौत हो गई। दरअसल आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि एंटी मलेरिया ड्रग हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन कोरोना वायरस के इलाज में काफी कारगर साबित हो सकता है। इस दवा को ट्रंप ने जादूई दवा बताते हुए कहा था कि इसका इस्तेमाल कोरोना वायरस के इलाज में किया जा सकता है।