पाकिस्तान की सत्ताधारी पीटीआई के कम से कम दो दर्जन असंतुष्ट एमएनए को पार्लियामेंट लॉज में पुलिस कार्रवाई के बाद सिंध हाउस में स्थानांतरित कर दिया गया है। एक रिपोर्ट के अनुसार पीटीआई के विद्रोही नेता राजा रियाज ने यह दावा किया। राजा रियाज ने दावा किया कि यदि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान सभी एमएनए को आश्वासन देते हैं कि अविश्वास प्रस्ताव के दिन उनके खिलाफ मतदान करने का फैसला करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी, तो वे संसद लॉज में वापस जाने के लिए तैयार हैं।

ये भी पढ़ेंः Aaj Ka Panchang 18 March : पंचांग के अनुसार चंद्रमा आज सिंह राशि में रहेगा. जानिए आज का शुभ मुहूर्त और राहुकाल


पीटीआई के एमएनए मलिक नवाब शेर वसीर और रियाज ने कहा कि पीटीआई के करीब 24 सदस्य अभी सिंध हाउस में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई अन्य यहां आने के लिए तैयार हैं, हालांकि, पीएमएल-एन सभी सदस्यों को समायोजित करने में असमर्थ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, जहांगीर तरीन समूह के सदस्य रियाज ने कहा कि असंतुष्ट सदस्य प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान करेंगे। वसीर ने यह भी कहा कि वह अगला आम चुनाव पीटीआई के टिकट पर नहीं लड़ेंगे।

ये भी पढ़ेंः पंजाब के मुख्यमंत्री बनते ही बुरे फंसे भगवंत मान, लग गया ऐसा बड़ा आरोप


जहां रियाज ने दावा किया कि सिंध हाउस में 24 सदस्य रह रहे हैं, वहीं वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने कहा कि उनकी गिनती के मुताबिक, सिंध हाउस में 20 पीटीआई एमएनए मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि कई असंतुष्ट नेता कैमरे से बच रहे हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि उन सभी ने पुष्टि की है कि सिंध हाउस में रहने का कारण डर है। मीर ने कहा, असंतुष्ट सदस्यों को डर है कि सरकार उनके खिलाफ 10 मार्च के घटनाक्रम की तरह पार्लियामेंट लॉज पर पुलिस की छापेमारी की तरह कार्रवाई करेगी।