त्रिपुरा सरकार ने विभिन्न विषयों में छात्रों के स्तर का आकलन करने के लिए 800 स्कूल शिक्षकों को लैपटॉप वितरित करने का निर्णय लिया है। राज्य के शिक्षा मंत्री रत्न लाल नाथ ने पत्रकारों को बताया कि नूतन दिशा के लिए 28 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है जो शिक्षकों को एक महीने का प्रशिक्षण देने वाली नई परियोजना है।

आठ सौ शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए चुना गया है। चयनित एनजीओ, सोसाइटीज या शिक्षण संस्थान उन्हें प्रशिक्षण देंगे। सरकार ने फरवरी में, सरकारी स्कूलों में तीसरी से आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों का शैक्षिक स्तर का आकलन करने के लिए एक सर्वेक्षण किया था।

मंत्री ने बताया कि आठवीं कक्षा के 36 फीसदी छात्र दूसरी कक्षा की बंगाली की पुस्तक पढ़ने में विफल रहे। आठवीं के 800 छात्र संख्या में 11 की संख्या की पहचान नहीं कर पाए। नाथ ने कहा कि नूतन दिशा का मकसद तीसरी से आठवीं कक्षा के छात्रों को सभी विषयों में सक्षम बनाना है।