त्रिपुरा कांग्रेस प्रेसिडेंट त​था शाही सदस्य प्रद्योत किशोर देब बर्मन की ओर से चुनावों के दौरान हिंसा से पीड़ित लोगों के लिए रिलीफ फंड दिया है। इसके लिए बर्मन की ओर से 10 लाख रूपए दान दिया गया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए कांग्रेस की ओर प्रदेश मुख्यालय पर एक प्रकोष्ठ खोला गया है जहां पर ऐसी घटनाओं से संबंधित एफआईआर की कॉपियों को रखा जा रहा है। आगे उन्होंने कहा कि इन्हीं के आधार पर पार्टी की ओर से सुप्रीम कोर्ट की याचिका दायर करके पीड़ित लोगों के परिवारों के लिए मुआवजे की मांग की जाएगी।

बर्बरतापूवर्क घटनाएं

बर्मन ने कहा कि 21वीं सदी में इस तरह की बर्बरतापूवर्क घटनाओं का समर्थन नहीं किया जा सकता क्योंकि महज पार्टी अलग होने के आधार पर ऐसी इन्हें अंजाम दिया जा सकता है। आगे कहा कि इस प्रकार की घटनाओं को रोकने में राज्य पूरी तरह से नाकाम रहा है। भारत में बहुदल लोकतांत्रिक व्यवस्था है, लेकिन जिस तरह पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया गया है उनको रोकने में राज्य सरकारें नाकाम रही हैं।

इतने लोग हुए प्रभावित

उन्होंने कहा कि जब से चुनावों के नतीजे आए हैं तब से अब तक भाजपा के 3 समर्थकों की मौत हो चुकी है और 200 से ज्यादा घायल हुए हैं। इसके अलावा चुनावों के दौरान 100 से अधिक लोग घायल हुए हैं। साथ ही कई घरों और दुकानों से माल का भी नुकसान हुआ है।

इन्होंने भी दी सहायता

बर्मन के अलावा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वाइस प्रेसिडेंट पिजूस बिस्वास ने 1 लाख रूपए दिए हैं। इनके साथ दो दिन के अन्य स्त्रोतों से लगभग 15 लाख रूपए की सहायता राशि आ चुकी है।