त्रिपुरा के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री बिप्लब देब राज्य में बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं। अब उन्होंने राज्य में बेरोजगारी समस्या को हल करने कर वादा किया है। उन्होंने कहा है कि 30 महीनों के भीतर उनकी सरकार सात लाख नौकरियों का सृजन करेगी। यानि वे हर रोज तकरीबन 778 लोगों को नौकरी देंगे।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा, “नौकरियां पैदा करना उन चीजों में शामिल है, जिस पर मैं पहले ही काम शुरू कर चुका हूं। मैं दो दिनों के अंदर 15 मंत्रियों से मिल चुका हूं। मुझे एक हजार करोड़ रुपए राज्य के लिए मिल भी चुके हैं। मुझे उम्मीद है कि मैं ढाई सालों के भीतर सात लाख बेरोजगार लोगों को नौकरियां मुहैया करा सकूंगा।”


इसके साथ ही देव ने लोगों से वादा किया था कि अगरतला के एयरपोर्ट का नया रखा जाएगा। उसे अब बीर बिक्रम किशोर माणिक्य एयरपोर्ट के नाम से जाना जाएगा। बता दें कि मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली कैबिनेट मीटिंग के दौरान ही बिप्लब ने कहा था कि अगरतला एयरपोर्ट को अब बीर बिक्रम किशोर माणिक्य एयरपोर्ट के नाम से जाना जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसा त्रिपुरा के महान राजा के सम्मान में होगा।


आपको बता दें कि 25 सालों से यहां माकपा सत्ता में थी, जिसे चंद दिनों पहले हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा के विकास रथ ने जड़ से उखाड़ फेंका था। प्रदेश में 59 विधानसभा सीटों के लिए फरवरी में विधानसभा चुनाव हुए थे। मतदान के परिणाम में भाजपा और इंडीजीनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) के गठबंधन ने 43 सीटों पर अपना कब्जा जमाया। राज्य की कुल विस सीटें 60 हैं, जिसमें भाजपा ने 35 सीटें हासिल की थीं। आईपीएफटी के खाते में आठ सीटें आई थीं।