कांग्रेस की त्रिपुरा इकाई ने मांग की है कि मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को पार्टी के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करने पर ‘बिना शर्त’ सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने यहां कुछ दिन पहले एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के नेताओं को ‘गद्दार’ और ‘शैतान मंडली’ कहा था तथा दावा किया था कि वे कम्युनिस्ट मुक्त राज्य में सफलता का फल खाने आये हैं। 

कांग्रेस उपाध्यक्ष तापस डे के हवाले से एक बयान में कहा गया, ‘‘त्रिपुरा के पूर्व भाजपा उपाध्यक्ष सुबल भौमिक की पार्टी में वापसी के खिलाफ बोलते हुए मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कांग्रेस के लिए ‘दलाल’, ‘चतुर लोमड़ी’ और ‘चोर’ जैसे आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया।’’ डे ने कहा कि मुख्यमंत्री ने ‘अभद्र’ शब्दों का इस्तेमाल किया जो उनके कद के नेता को शोभा नहीं देता। कांग्रेस ने कहा कि देब अपने आरोप को साबित करें या पार्टी और सुबल भौमिक से ‘बिना शर्त’ सार्वजनिक रूप से माफी मांगें। 

सुबल भौमिक गत 19 मार्च को कांग्रेस में शामिल हो गए थे। वर्ष 2014 में वह भाजपा में शामिल हुए थे और उन्हें पार्टी की राज्य इकाई का उपाध्यक्ष बनाया गया था। इससे पहले 2008 में उन्होंने सोनामुरा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीता था।