पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने सख्त कदम उठाते हुए सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सुदीप रॉय बर्मन को मंत्रिमंडल से हटा दिया है। दरअसल बर्मन की पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते ये सख्त कार्रवाई की गई है। इस संबंध में राज्य सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर बर्मन को हटाए जाने की जानकारी दी है। 

सुदीप रॉय बर्मन के पास स्वास्थ्य मंत्रालय के अलावा आईटी, विज्ञान एवं तकनीकी और पीडब्लूडी मंत्रालय भी था। अब आईटी और स्वास्थ्य और पीडब्लूडी मंत्रालय का कामकाज फिलहाल सीएम बिप्लब कुमार देब देखेंगे और विज्ञान, तकनीकी और पर्यावरण मंत्रालय का कामकाज उप मुख्यमंत्री जिश्नू देव वर्मा देखेंगे। आपको बता दें कि सुदीप रॉय बर्मन त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री समीर रंजन बर्मन के बेटे हैं। सुदीप रॉय बर्मन को त्रिपुरा में लोकप्रिय नेता के तौर पर देखा जाता है। सुदीप दो साल पहले ही कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे। उनके साथ कांग्रेस के 6 विधायक भी शामिल हुए थे। 

सुदीप अभी अगरतला विधायक हैं। आपको बता दें कि सुदीप ने त्रिपुरा में बीजेपी-आईपीएफटी गठबंधन को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाई थी। बीजेपी की अगुवाई में इस गठबंधन ने त्रिपुरा की सत्ता में 25 सालों से काबिज लेफ्ट सरकार को उखाड़ फेंका था। पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कुछ महीनों से सुदीप ने बगावती रुख अपना रखा था और वह लोकसभा चुनाव में प्रचार करने भी नहीं उतरे थे, यहां तक कि वह अंदर ही अंदर कांग्रेस का प्रचार कर रहे थे। अप्रैल के महीने में उन्होंने विरोध जताने के लिए सरकार की ओर से मिली सुरक्षा भी वापस कर दी थी।