त्रिपुरा के मुख्य चुनाव अधिकारी श्रीराम तारानिकांति ने कहा कि यहां अलगे साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कुल मांगी गयी 4,700 इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पहुंच चुकी हैं। तारानिकांति ने बताया कि साल 2013 में पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों की कुल 260 कंपनियां का प्रयोग किया गया था, जबकि इस साल केन्द्र से और अधिक बलों की मांग की गयी है।


तारानिकांति ने पत्रकारों से कहा, ‘‘त्रिपुरा में कुल 4,700 ईवीएम मशीनें पहुंच चुकी हैं। विधानसभा चुनाव के लिये इतनी ही मशीनों की आवश्यकता होगी।’’ उन्होंने बताया कि ईवीएम के साथ इस्तेमाल होने वाला वोटर वेरफाइअबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपैट) भी आया है।उन्होंने बताया कि राज्य चुनाव अधिकारियों ने चुनाव आयोग से अतिरिक्त 800 वीवीपैट की मांग की है।इलेक्ट्रानिक्स कारपोरेशन आफ इंडिया के तकनीक विशेषज्ञ जल्द ही ईवीएम और वीवीपैट का परीक्षण करने के लिये त्रिपुरा आएंगे।

तारानिकांति ने बताया कि चुनाव अधिकारियों ने केन्द्र सरकार से अर्धसैनिक बलों की 260 से ज्यादा कंपनियां भेजने का अनुरोध किया है। पिछले विधानसभा चुनाव में अर्धसैनिक बलों की 260 कंपनियां तैनात की गयी थीं।उन्होंने कहा कि केन्द्रीय बलों की जरूरत का अनुमान नामांकन और सुरक्षा प्रक्रिया पूरी होने के बाद किया जा सकेगा।रिटर्निंग अधिकारी ने संवेदनशील और कमजोर मतदाता केन्द्रों की पहचान शुरू कर दी है और वे इलाके में सुरक्षा बलों की आवश्यकता के संबंध में अंतिम निर्णय करेंगे।