पुणे. कोरोना वायरस (Corona virus ) के खिलाफ जंग में अब तक वैक्सीन से वंचित रहे बच्चों को जल्द ही अच्छी खबर मिल सकती है।  पुणे के भारती विद्यापीठ मेडिकल कॉलेज में कोवोवैक्स वैक्सीन (Covovax vaccine) के फेज 2/3 का ट्रायल शुरू हो गया है।  फिलहाल, यह परीक्षण 7 से 11 साल के बच्चों पर किया जा रहा है।  इधर, दिल्ली में भी हमदर्द चिकित्सा विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान (Hamdard Institute of Medical Sciences and Research) में कोवोवैक्स के दूसरे चरण के परीक्षण के लिए वॉलिंटियर्स की भर्तियां शुरू हो गई हैं। 

अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉक्टर संजय ललवानी (Sanjay Lalwani)  ने बताया, ‘पुणे के भारती विद्यापीठ मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (Bharti Vidyapeeth Medical College Hospital) ने बुधवार को 7 और 11 साल की उम्र के बच्चों के बीच कोवोवैक्स (Covovax vaccine) के 2/3 चरण के ट्रायल शुरू कर दिए हैं।  ट्रायल के लिए 9 बच्चे भर्ती किए गए हैं।  वैक्सीन के इस चरण के परीक्षण के लिए देश में 9 केंद्रों की पहचान की गई है।  भारती विद्यापीठ मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल भी इनमें शामिल है। 

डॉक्टर ललवानी ने बताया कि ट्रायल में शामिल होना चाह रहे बच्चों के माता-पिता से पहले चर्चा की गई थी।  उन्होंने कहा, ‘भर्ती होना चाह रहे बच्चों को स्थानीय भाषा में सलाह दी गई थी और ऑडियो विजुअल कंसल्टिंग प्रक्रिया को रिकॉर्ड किया गया।  एक बार पैरेंट्स सहमति दे देते हैं, तो वॉलिंटियर का RT-PCR टेस्ट और एंटीबॉडी (Antibody)  टेस्ट होता है।  हालांकि, यह उन्हें ट्रायल का हिस्सा होने से नहीं रोकता है।