मेघालय में मंगलवार को विधानसभा चुनाव है। राज्य की 59 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। 3 मार्च को नतीजे घोषित होंगे। 5 मार्च तक चुनावी प्रक्रिया पूरी होने की उम्मीद है क्योंकि मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 6 मार्च को समाप्त हो रहा है। आज हम बात कर रहे हैं अमलारेम सीट की जो एससी के लिए रिजर्व है।

इस सीट पर दूसरी बार चुनाव हो रहे हैं। यहां पहली बार चुनाव 2013 में हुआ था। तब यहां से निर्दलीय उम्मीवार स्टेफंसन मुखिम ने जीत दर्ज की थी। मुखिम ने कांग्रेस के लाखमेन रिम्बुई को 1,134 वोटों से हराया था। मुखिम को कुल 8, 297 जबकि रिम्बुई को 7, 163 वोट मिले थे। इस बार मुखिम नेशनलिस्ट पीपुल्स पार्टी(एनपीपी)के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस ने इस बार उम्मीदवार बदल दिया है। पार्टी ने होलांडो लामिन को टिकट दिया है। पिछली बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लडऩे वाले लाखमेन रिम्बुई इस बार यूडीपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा ने रियांग लेनन तारियांग को चुनाव मैदान में उतारा है। मेघालय में विधानसभा की कुल 60 सीटें हैं लेकिन विलियमनगर सीट पर बाद में चुनाव होंगे क्योंकि यहां से एनसीपी के उम्मीदवार जोनाथॉन संगमा की आईईडी ब्लास्ट में मौत हो गई थी। यहां कुल 9 उम्मीदवार खड़े हुए हैं। एनसीपी ने जोनाथॉन की पत्नी को उम्मीदवार बनाया है।

मेघालय के विधानसभा चुनाव में इस बार कुल 361 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें से 32 महिलाएं हैं। राज्य में कुल मतदाता 18, 44,785 है। इनमें से 9, 29, 333 महिलाएं जबकि संख्या 9, 15, 452 पुरुष मतदाता हैं। मावलई विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा 42, 670 वोटर हैं। सबसे कम वोटर डालु विधानसभा क्षेत्र में हैं। यहां कुल मतदाता सिर्फ 18, 640 हैं। राज्य में कुल 3025 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। महिला पोलिंग बूथों की संख्या 67 है। दक्षिण गारो हिल्स के बाघमारा विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले मलिकोना मतदान केन्द्र पर सबसे ज्यादा 1369 वोटर्स हैं।