झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) ने एक करोड़ के इनामी नक्सली कमांडर प्रशांत बोस (Naxalite Commander Prashant Bose) ऊर्फ किशन दा और उसकी पत्नी शीला मरांडी को सरायकेला से शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। प्रशांत बोस ( Prashant Bose) माओवादियों के पोलित ब्यूरो का सदस्य है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां प्रशांत बोस से सुरक्षित ठिकाने पर पूछताछ कर रही है। प्रशांत बोस झारखंड-बिहार में माओवादियों का सुप्रीम कमांडर है। 

बताया जा रहा है कि वह इलाज के लिए पत्नी के साथ सरायकेला आया था। जिसकी सूचना इंटेलीजेंस ब्यूरो तक पहुंची थी। उसके बाद सरायकेला पुलिस ने उसे धर दबोचा। गिरफ्तार नक्सली किशन दा उर्फ प्रशांत बोस (Naxalite Commander Prashant Bose) पश्चिम बंगाल के जादवपुर इलाके के रहने वाले हैं। उन्हें निर्भय, किशन, काजल और महेश जैसे उपनामों से भी जाना जाता है। किशन दा वर्तमान में भाकपा माओवादी केंद्रीय समिति, पोलित ब्यूरो, केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) के सदस्य और माओवादी पार्टी के पूर्वी क्षेत्रीय ब्यूरो (इआरबी) के सचिव हैं।