तालिबान के एक नेता का साक्षात्कार करने के बाद टोलो न्यूज चैनल की महिला एंकर बेहेश्ता अरघंद देश छोड़कर चली गयी है। सीएनएन न्यूज चैनल ने सोमवार को अपनी रिपोर्ट में बताया कि अरघंद ने अगस्त के मध्य में तालिबान के शीर्ष नेता मावलावी अब्दुलहक हेमाद का साक्षात्कार किया था और दुनियाभर में सुर्खियां बटोरी थी, क्योंकि अफगानिस्तान के इतिहास में यह पहला मौका था, जब तालिबान का कोई सदस्य टेलीविजन पर महिला एंकर के सामने बैठा था। 

सीएनएन ने अपनी रिपोर्ट में अरघंद हवाले से बताया है कि उन्होंने तालिबान के डर से देश छोड़ा है और यह भी कहा है कि अफगानिस्तान में हालात सामान्य हो जाने पर वह लौट आएंगी। उल्लेखनीय है कि तालिबान ने समाचार मीडिया को स्वतंत्र रूप से संचालित होने देने का वादा किया है लेकिन पत्रकार समुदाय अपनी सुरक्षा को लेकर भयभीत है और विशेष तौर पर महिला पत्रकारों ने इसे लेकर गहरी चिंता व्यक्त की है। 

बता दें कि बेहेश्ता अपने करियर के पीक पर थीं, जब वो 9वीं क्लास में थीं, तभी उन्होंने एक जर्नलिस्ट बनने की ठान ली थी, लेकिन तालिबान के सत्ता में आने के बाद उन्होंने करियर को दांव पर लगाकर देश छोड़ दिया है। बेहेश्ता ने कहा, मैंने देश छोड़ दिया है. क्योंकि लाखों लोगों की तरह मुझे भी तालिबान से डर लगता है। हालांकि, उन्होंने आगे कहा, तालिबान ने जैसा वादा किया है, अगर वैसा ही करता है और हालात सुधरते हैं और मुझे लगता है कि मैं सेफ हूं और मुझे वहां कोई खतरा नहीं है, तो मैं अपने देश वापस चली जाऊंगी और अपने देश और लोगों के लिए काम करूंगी।