भारत की महिला मुक्केबाज लवलीना बोर्गोहेन यहां जारी टोक्यो ओलंपिक के 69 किग्रा भार वर्ग के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। अगले दौर में अगर वह जीत जाती हैं तो वह देश के लिए कम से कम कांस्य पदक सुरक्षित कर लेंगी। असम की 23 साल की लवलीना ने कुकुगिकान एरेना में मंगलवार को खेले गए अंतिम-16 राउंड के मुकाबले में अपने से 12 साल बड़ी जर्मनी की नेदिन एपेट को 3-2 से हराया।

नीले कार्नर पर खेल रहीं लवलीना ने पांचों जजों से क्रमश: 28, 29, 30, 30, 27 अंक हासिल किए। दूसरी ओर नेदिन को 29, 28, 27, 27, 30 अंक प्राप्त हुए। यह काफी कठिन मुकाबला रहा। लवलीना ने जहां तीन राउंड तक चले मुकाबले में तीन जजों को प्रभावित किया वहीं दो जजों ने नेदिन के पक्ष में फैसला दिया। अगले दौर में लवलीना का सामना ताइवान की नीन चेन चेन से होगा। यह मुकाबला शुक्रवार को खेला जाएगा।

महिला मुक्केबाजी में भारत की दिग्गज एमसी मैरीकोम भी जीत के साथ अपने सफर का आगाज कर चुकी हैं। मैरी भारत के लिए ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली और एकमात्र महिला मुक्केबादज हैं। मैरी ने लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था।