11 अगस्त को इस साल का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण दिखाई देगा. यह सूर्य ग्रहण आंशिक होगा और इसकी दृश्यता भारत में नहीं रहेगी. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह सूर्य ग्रहण अष्लेषा नक्षत्र और कर्क राशि में लग रहा है, इसलिए इस नक्षत्र से संबंधित राशि वाले लोगों के लिए यह ग्रहण समस्या उत्पन्न कर सकता है. हालांकि हर राशि पर ग्रहण का प्रभाव अलग-अलग होता है.

यह ग्रहण पुष्य, आश्लेषा नक्षत्र और कर्क राशि में होगा. अतः जिनका जन्म इन नक्षत्रों और कर्क राशि या कर्क लग्न में हुआ है उनके लिए यह कष्टप्रद रहेगा. *वृषभ, कन्या, तुला व कुंभ राशि व लग्न वालों को श्रेष्ठ. 

*मिथुन, वृश्चिक, मकर व मीन राशि व लग्न वालों के लिए मध्यम. 

*मेष, कर्क, सिंह व धनु राशि वालों के लिए अशुभ है

 सूतक लगने के बाद कुछ भी खाना-पीना वर्जित रहता है. रोगी, वृद्ध, बच्चे और गर्भवती स्त्रियां सूतक के दौरान खाना-पीना कर सकती हैं. 

*ये उपाय अवश्य करें*-सूतक प्रारंभ होने से पहले पके हुए भोजन, पीने के पानी, दूध, दही आदि में तुलसी पत्र या कुशा डाल दें. इससे सूतक का प्रभाव इन चीजों पर नहीं होता.