प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज कैम्ब्रिज एनर्जी रिसर्च एसोसिएट्स वीक (सेरावीक) के वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशिप पुरस्कार से नवाजे जाएंगे। इस कार्यक्रम की स्थापना 1983 में सेरावीक की गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह सम्मान ऊर्जा और पर्यावरण में स्थिरता के प्रति प्रतिबद्धता के लिए दिया जा रहा है। बता दें कि हर साल मार्च में ह्यूस्टन में सेरावीक सम्मेलन का आयोजन किया जाता है। इस सम्मेलन की गिनती दुनिया के सबसे आगे रहने वाले ऊर्जा मंचों में की जाती है।

इस साल 2021 में भारत देश के प्रधानमंत्री मोदी को इस सम्मान समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्मानित किया जाएगा। मोदी वहीं भाषण भी देंगे। इस सम्मेलन की खास बात यह है कि सका आयोजन पहली बार पूरी तरह वर्चुअल तरीके से किया जा रहा है। इस सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति के दूत जॉन केरी, बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष और ब्रेकथ्रू एनर्जी के संस्थापक बिल गेट्स और सऊदी अरामको के सीईओ अमीन नासर भी शामिल होंगे।


 कैम्ब्रिज एनर्जी रिसर्च एसोसिएट्स वीक (सेरावीक) के वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशिप पुरस्कार दुनिया की ऊर्जा जरूरतों का ख्याल रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सम्मानित किया जा रहा है। कार्यक्रम के आयोजक आईएचएस मार्किट के वाइस चेयरमैन और कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष डेनियल येरगिन ने बताया कि देश और दुनिया की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत के नेतृत्व में किए जा रहे लगातार प्रयास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस अवार्ड से सम्मानित किया जा रहा है।