कोरोना कहर के बीच आम आदमी को एक और झटका लग सकता है। दरअसल कच्चा तेल तेजी से महंगा होता जा रहा है, ऐसे में पेट्रोल और डीजल की कीमत 3 रुपए तक महंगी हो सकती है। कच्चे तेल का बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड सोमवार को 75 डॉलर प्रति बैरल के स्तर तक पहुंच गया, जबकि एक महीने पहले यह 69.03 डॉलर पर था। इस तरह इसमें 9.1 फीसदी का इजाफा हुआ है। दरअसल कोरोना के नए मामलों में आ रही गिरावट और टीकाकरण की बढ़ती रफ्तार से आर्थिक गतिविधियां दोबारा खुली हैं। ऐसे में तेल की मांग भी तेजी से बढ़ रही है, जिससे कच्चे तेल की कीमत आसमान छू रही है।

बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बीते सप्ताह तेल कीमतों में उबाल आने बीच सोमवार को दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार 15 वें दिन कोई बदलाव नहीं किया गया। गत पांच सितंबर को इन दोनों की कीमतों में 15-15 पैसे प्रति लीटर की कमी की गयी थी। दिल्ली में आज इंडियन ऑयल के पंप पर पेट्रोल जहां 101.19 रुपये प्रति लीटर पर औैर डीजल 88.62 रुपये प्रति लीटर पर रहा। 

तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल 101.19 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 88.62 रुपये प्रति लीटर पर रहा। अमेरिका में कच्चे तेल की खपत बढऩ़े के मद्देनजर एक सप्ताह में तेल की कीमतों में तीन फीसदी से अधिक की तेजी रही है। सोमवार को ङ्क्षसगापुर में ब्रेंट क्रूड गिरकर 74.85 डॉलर प्रति बैरल पर और अमेरिकी क्रूड 71.45 डॉलर प्रति बैरल पर खुला। पेट्रोल-डीजल के मूल्यों की रोजाना समीक्षा होती है और उसके आधार पर हर दिन सुबह छह बजे से नयी कीमतें लागू की जाती हैं।