पेट्रोल और डीजल के दाम में सोमवार को कोई बदलाव नहीं हुआ, लेकिन कच्चे तेल में करीब तीन फीसदी की गिरावट आई। चीन में कोरोनावायरस का प्रकोप गहराने और इसका प्रभाव दूसरे देशों पर भी होने से वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास को लेकर बनी चिंता के कारण कच्चे तेल के दाम में गिरावट आई है। बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का भाव अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोमवार को फिर 56 डॉलर प्रति बैरल से नीचे तक लुढक़ा जबकि अमेरिकी लाइट क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) का 52 डॉलर प्रति बैरल से नीचे बना हुआ था।

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता ने बताया, ‘‘कोरोनावायरस का संक्रमण चीन के अलावा अन्य देशों में भी फैलने के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था का आउटलुक कमजोर माना जा रहा है, जिसके कारण कच्चे तेल के दाम में फिर गिरावट आई है क्योंकि आर्थिक गतिविधियां कमजोर रहने से तेल की खपत मांग कमजोर रह सकती है।’’ अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर ब्रेंट क्रूड के मई अनुबंध में सोमवार को 1.60 डॉलर यानी 2.76 फीसदी की गिरावट के साथ 56.34 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले ब्रेंट क्रूड का भाव 55.99 डॉलर तक लुढक़ा।

वहीं, न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज (नायमैक्स) पर डब्ल्यूटीआई के अप्रैल अनुबंध में पिछले सत्र से 2.64 फीसदी की कमजोरी के साथ 51.97 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम बिना किसी बदलाव के क्रमश: 72.01 रुपये, 74.65 रुपये, 77.67 रुपये और 74.81 रुपये प्रति लीटर पर बना हुआ था। इससे पहले लगातार दो दिन पेट्रोल के दाम में वृद्धि हुई थी। चारों महानगरों में डीजल का भाव भी स्थिरता के साथ क्रमश: 64.70 रुपये, 67.02 रुपये, 67.80 रुपये और 68.32 रुपये प्रति लीटर बना हुआ था। एक दिन पहले डीजल के दाम में मामूली वृद्धि दर्ज की गई थी।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज :  https://twitter.com/dailynews360