सऊदी में तेल प्लांट पर हमले के बाद कच्चे तेल की कीमत में आई तेजी का असर भारत में बढ़ने लगा है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर आग लग चुकी है। लगातार सातवें दिन तेल के दाम बढ़ गए हैं। देश के कई हिस्सों में पेट्रोल 80 रुपये प्रति लीटर के पार जा चुका है तो डीजल भी 70 के स्तर से आगे बढ़ चुका है।

पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी का सिलसिला सोमवार को लगातार सातवें दिन जारी रहा। इन 7 दिनों में देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 1.88 रुपये लीटर महंगा हो गया और डीजल के दाम में भी 1.50 रुपये प्रति लीटर का इजाफा हुआ है। इसी प्रकार देश के अन्य शहरों में भी पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि हुई है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में तेजी आई है। खाड़ी क्षेत्र में जारी तनाव और अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता की प्रगति से कच्चे तेल के भाव को सपॉर्ट मिला है। 

पेट्रोल के दाम सोमवार को दिल्ली में 29 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 28 पैसे, जबकि चेन्नै में 31 पैसे प्रति लीटर बढ़ गए। डीजल के दाम में दिल्ली में 19 पैसे कोलकाता और चेन्नई में 20 पैसे जबकि मुंबई में 21 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई। इंडियन ऑइल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नै में पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 73.91 रुपये, 76.60 रुपये, 79.57 रुपये और 76.83 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। चारों महानगरों में डीजल के दाम भी बढ़कर क्रमश: 66.93 रुपये, 69.35 रुपये, 70.22 रुपये और 70.76 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। देश में सबसे महंगा पेट्रोल महाराष्ट्र के परभानी में है। यहां आज एक लीटर पेट्रोल की कीमत 81.51 रुपये प्रति लीटर है। इसके बाद नांदेड़ है, जहां 81.40 रुपये लीटर पेट्रोल बिक रहा है।

इसी महीने 14 सितंबर को सउदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सउदी अरामको के तेल संयंत्रो पर ड्रोन से हुए हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में बीते सोमवार को यकायक तकबरीन 20 फीसदी का उछाल आया जोकि 28 साल बाद आई सबसे बड़ी एक दिनी तेजी थी। कथित तौर हमले की जिम्मेदारी यमन के हूती विद्रोहियों ने ली थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के नवंबर डिलीवरी अनुबंध में इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर पिछले सत्र के मुकाबले 0.51 फीसदी की तेजी के साथ 64.93 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।