ईरान-अमेरिका के बीच चल रहे तनाव के बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर आई है। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने आश्वस्त किया है कि ईरान पर अमेरिका की ओर से प्रतिबंध लगाए जाने के बाद वह भारत के लिए तेल आपूर्ति में आई किसी तरह की कमी को पूरा करेगा। भारत में संयुक्त अरब अमीरात के राजूदत अहमद अल बन्ना ने यह जानकारी दी। भारत ने होर्मुज के जलडमरूमध्य की घटनाओं पर चिंता जाहिर की है। तेल की कीमतों में इजाफा हो रहा है एवं उसने तेल की कीमतों को काबू में रखने के लिए ओपेक समूह के प्रमुख देश सऊदी अरब से सक्रिय भूमिका अदा करने को कहा है।

दुबई चैंबर ऑफ कॉमर्स की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम से इतर अहमद अल बन्ना ने कहा कि 'संयुक्त अरब अमीरात ने आश्वस्त किया है कि वह (ईरान पर अमेरिका के प्रतिबंध) स्थिति के कारण तेल की होने वाली किसी भी तरह की कमी को पूरा करेगा। ऐसा पूर्व में किया जा चुका है और हम भारत सरकार को फिर से इस बात को लेकर आश्वस्त करते हैं। अमेरिका द्वारा दी गई छूट समाप्त होने के बाद भारत ने इस साल मई में ईरान से तेल का आयात रोक दिया था। इसके अलावा अल बन्ना ने कहा कि भारत और संयुक्त अरब अमीरात दोनों देशों के बीच उड़ानों की संख्या में वृद्धि को लेकर अगले कुछ महीनों में बैठक करेंगे।

वहीं अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है। इस वजह से मंगलवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में पिछले दो दिनों से जारी वृद्धि पर फिर ब्रेक लग गया है। तेल कंपनियों ने मंगलवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम पूर्ववत क्रमश: 70.05 रुपये, 72.31 रुपये, 75.75 रुपये और 72.77 रुपये प्रति लीटर रहे। चारों महानगरों में डीजल के दाम भी पूर्ववत क्रमश: 63.90 रुपये, 65.82 रुपये, 66.99 रुपये और 67.59 रुपये प्रति लीटर रहे।