अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम का बाजार पर सीधा असर पड़ता है और इस समय अमेरिका-ईरान के बीच चल रही तनातनी की असर सोना पर दिखाई दे रहा है। इसके अलावा अमेरिका के शीर्ष बैंक तथा अमेरिकन शासन में तनाव से भी लोगों का झुकाव सोने की तरफ ज्यादा हो रहा है। इसलिए सोना नई ऊंचाई छू रहा है।

मंगलवार को सोने में रिकॉर्ड तेजी देखने को मिली। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज सोना 34647 के स्तर पर चला गया। सोने में यह तेजी लंबे समय बाद देखने को मिली है। सोना ने अक्टूबर वायदा में रिकॉर्ड बनाया है और अक्टूबर वायदा में सोना 35,100 पर पहुंच गया है। बाजार एक्सपर्ट सोने में निवेश की सलाह दे रहे हैं और उनका कहना है कि इस साल के अंत तक सोना 37,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक चला जाएगा।

वर्तमान में सोना 1424-1425 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड कर रहा है। सोना इस समय 1500 के लेवल पर जाने के लिए तैयार बैठा है। अंतराष्ट्रीय मंच पर टेंशन बढ़ने से लोग सोने को सुरक्षित निवेश मान कर चल रहे हैं।सोना इस साल के अंत तक इंटरनेशल मार्केट में 1490 से 1505 डॉलर के बीच उम्मीद की जा सकती है और भारतीय बाजार में इस साल के अंत तक सोना 37,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर को छू जाएगा। अगर सोना 1500 डॉलर के स्तर को भी तोड़ता है तो इसमें 10 फीसदी तक की तेजी और आएगी. इसलिए जून, 2020 तक सोना 39 से 41 हजार तक सोना चला जाएगा।