इस समय उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ऐसे में आपको अपनी बाइक की चिंता लगी होगी जो कि लाजिमी है। क्योंकि ज्यादा ठंड में बाइक खराब होने के चांसेज बढ़ जाते हैं। इस समय आपको अपनी बाइक का ज्यादा ख्याल करना होता है। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि कड़ाके की ठंड में भी आप अपनी बाइक का कैसे ख्याल रख सकते हैं ताकि वो चलती रहे।...



सर्दियों में सबसे बड़ी दिक्कत बाइक पर ओस जमने की होती है। इसकी वजह से कई तरह के नुकसान होतें हैं। इसकी वजह से जंग लगने का भी खतरा रहता है। ऐसे में आप अपनी बाइक के कुछ हिस्सों विशेषकर टैंक, ब्रेक्स, चेन और इंजन के आसपास वाटर रिपेलेंट स्प्रे को छिड़क कर रखें।



सर्दियों के मौसम में बाइक के इंजन ऑयल को जल्दी से बदलते रहें। ऐसा करने से आपकी बाइक के इंजन को बेहतर सुरक्षा मिलेगी। इसकी वजह से राइड भी स्मूद बनेगी।



सर्दियों में बाइक के साथ उसकी बैटरी को लेकर बड़ी समस्या आती है। ठंड में लंबे ज्यादा समय तक खड़े रहने की वजह से बाइक की बैटरी की ताकत कम हो जाती है। ऐसे में अगर आप अपनी बाइक में ड्राई बैटरी डलवाते हैं तो काफी बेहतर है।



सर्दियों में बाइक के पहियों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। सर्दियों में बाइक के टायर की रबर खड़े रहने पर थोड़ी सिकुड़ती है। हालांकि, चलने पर गर्मी आने की वजह से वो नॉर्मल होती है। इस वजह से टायर के प्रेशर पर असर पड़ता है। कई बार टायर तो टायर के फटने की नौबत आ जाती है। ऐसे में घर से निकलने से पहले टायर का प्रेशर सही से चेक करें।

अगर आप BS-6 से पहले की बाइक चलाते हैंं तो हो सकता है उसमें सही कूलेंट नहीं हो। ऐसे में एंटी-फ्रीज एलिमेंट या मिक्स्ड कूलेंट का उपयोग करें।

सर्दियों के मौसम में बाइक की चेन की ग्रीजिंग भी सही से करें। इसकी वजह से गाड़ी सही तरीके से चलेगी। इसके लिए हर हफ्ते अपनी बाइक की चेन पर ग्रीस लगाएं।

गौरतलब है कि सर्दियों के मौसम में सड़क पर विजिबिलिटी कम होती है। ऐसे में अपनी बाइक के इंडीकेटर, हैडलैंप और साइड मिरर की देखभाल जरूर करें। आप बाइक के हेडलैंप पर पीले रंग की फिल्म चढ़ाकर एंटी-फॉग लाइट का बना सकते हैं। इसकी वजह से विजिबिलिटी बढ़ती है।