झारखंड में दुमका जिले की एक सत्र अदालत ने आज छह साल की नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार कर हत्या करने के आरोप में उसके चाचा समेत तीन दोषियों को फांसी की सजा सुनाई।


दुमका के प्रथम जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश तोफीकुल हसन की अदालत ने रामगढ़ थाना कांड संख्या 8/2020 में चार दिन तक त्वरित सुनवाई कर दोनों पक्षों की ओर से बहस सुनने के बाद जघन्य से जघन्यतम अपराध करने के दोष सिद्ध आरोपी मिजू राय, पंकज मोहली और अशोक राय को फांसी की सजा सुनाई।


अदालत ने दोषियों को भारतीय दंड विधान की धारा 366 में दस- दस साल का कारावास और 15-15 हजार रुपये जुर्माना तथा जुर्माने की राशि नहीं देने पर दो- दो साल की अतिरिक्त सजा, धारा 302 में फांसी के साथ 50-50 जुर्माना तथा जुर्माने की राशि अदा नहीं करने पर पांच-पांच साल की अतिरिक्त सजा, 376(डी/बी) में फांसी के साथ 50-50 हजार रूपये जुर्माना तथा जुर्माने की राशि अदा नहीं करने पर पांच-पांच साल की अतिरिक्त सजा सुनाई है।