प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन नेशनल लिबरेशन फ्रंट ऑफ त्विप्रा (एनएलएफटी) के तीन उग्रवादियों ने बुधवार को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की 71वीं बटालियन के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

तीनों उग्रवादी धलाई जिले के अम्बासा के निवासी हैं। उग्रवादियों ने तीन छुरे, एक वायर कटर, तीन सेलुलर फोन, भारत में बंद हो चुका एक हजार रुपये का एक नोट और 967 बंगलादेशी टका के साथ बीएसएफ की 71वीं बटालियन के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

उग्रवादियों की पहचान गंगानगर थाना क्षेत्र के एमके पाड़ा निवासी त्रिविजय त्रिपुरा, चावमानु थाना क्षेत्र के तालचारा निवासी अमरीका त्रिपुरा और रैस्याबाड़ी थाना क्षेत्र के रतन नगर निवासी खरजामणि के रूप में की गयी है। उनमें से त्रिविजय वांछित उग्रवादी है।