पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को नई दिल्ली में पार्टी आलाकमान के साथ बैठक से पहले आप के तीन बागी विधायकों सुखपाल खैरा, पीरमल सिंह और जगदेव सिंह कमलू को पार्टी में शामिल किया। कांग्रेस शासित प्रदेश में अगले साल मार्च में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है।

पंजाब कांग्रेस ने ट्वीट कर जानकारी दी, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले सुखपाल खैरा विधायक और पूर्व नेता प्रतिपक्ष और उनके दो आप विधायक सहयोगियों जगदेव सिंह कमलू, विधायक मौर और पीरमल सिंह धौला, विधायक भदौरा का पार्टी में स्वागत किया।कभी अमरिंदर सिंह की कड़ी आलोचना करने वाले फायरब्रांड खैरा ने कांग्रेस छोड़ दी थी और दिसंबर 2015 में आप में शामिल हो गए थे। वह 2017 में भोलाथ विधानसभा सीट से चुने गए थे।

हालांकि, पंजाब विधानसभा में विपक्ष के पूर्व नेता खैरा ने जनवरी 2019 में आप की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था और अपनी खुद की पार्टी पंजाबी एकता पार्टी भी बनाई थी। अन्य दो विधायक कमलू और धौला पहली बार विधायक थे। इस समारोह में पटियाला की सांसद और मुख्यमंत्री की पत्नी परनीत कौर मौजूद रहीं। पंजाब इकाई में अंदरूनी कलह को सुलझाने के लिए कांग्रेस कमेटी से मिलने के लिए अमरिंदर सिंह को दिल्ली में बुलाया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीनों विधायकों को शामिल करने की मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री ने कहा, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) पंजाब के प्रभारी हरीश रावत और राज्य इकाई के प्रमुख सुनील जाखड़ दिल्ली में तीन सदस्यीय समिति के साथ परामर्श प्रक्रिया में व्यस्त हैं।