असम में हाल ही गठित उग्रवादी संगठन डिमासा नेशनल फ्रंट (डीएनएलए) ने राज्य के दो जिलों में बंद का आह्वान किया है। जिन दो जिलों में बंद बुलाया गया है वो है कार्बी आंग्लोंग और डिमा हसाउ । डीएनएलए ने दोनों जिलों में 15 अप्रैल को बंद का आह्वान किया है। आपको बता दें कि असम में दूसरे चरण में लोकसभा की पांच सीटों के लिए 18 अप्रैल को वोेटिंग होने जा रही है। डीएनएलए ने 15 अप्रैल को समूह में जारी के एक प्रेस विज्ञप्ती संगठन के गठन की घोषणा की। डीएनएलए के सूचना और प्रचार सचिव रिंग्समई ने बताया कि हम अपनी संस्कृती, भाषा और ऐतिहासिक अधिकारों के लिए प्रतिबद्ध हैं।
प्रेस विज्ञप्ति में उन्होंने बताया कि भारत की डिमासा जनजाति ने संयुक्त रूप से डिमासा नेशनल लिब्रेशन फ्ंरट नामक हथियार बंद विद्रोही संगठन गठित किया है। यह संगठन नईसोदाओ डिमासा की अध्यक्षता गठित किया गया है। संगठन डिमासाओं के बीच भाईचारे की भावना को विकसित करने का काम करेगा साथ ही संगठन डिमासा साम्राज्य की स्थापना के लिए डिमासा समाज के बीच विश्वास का पुनर्निर्माण की स्थापना करेगा।

रिंग्समई ने कहा कि डीएनएलए नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध करेगा। हम आने वाली पीढ़ी को किसी भी तरह के खतरे में डालने की अनुमति नहीं देंगे। हम अपनी आजादी व अधिकारों के लिए मौत से भी लड़ जाएंगे।